Loader
logo
Cart Call

Home > Blog > Pet Dard Ke Gharelu Nuskhe

Pet Dard Ke Gharelu Nuskhe

Pet Dard Ke Gharelu Nuskhe

Max Lab

Nov 21, 2022

पेट दर्द न केवल तकलीफदेय होता है, बल्कि यह हानिकारक भी हो सकता है। हालांकि, कुछ सरल और सस्ते उपाय हैं जिनका उपयोग करके आप को दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है।

पेट दर्द आखिर क्या है?

पेट दर्द कई कारणों से हो सकता है, जिनमें अपच, गैस, फूड पॉइजनिंग, तनाव और पीरियड क्रैम्प्स शामिल हैं। अधिकांश पेट दर्द गंभीर नहीं होते हैं और घर पर ओवर-द-काउंटर दवाओं या घरेलू उपचार के साथ इलाज किया जा सकता है, लेकिन वहीं दूसरे कुछ प्रकार के पेट दर्द अधिक गंभीर स्थिति का संकेत हो सकते हैं।

पेट दर्द का क्या कारण है?

पेट दर्द के कई संभावित कारण हैं लेकिन इसका वास्तविक कारण कारण का पता लगाना मुश्किल हो सकता है। हालांकि, कुछ सामान्य कारणों में शामिल हैं-:

-अपच या पेट में जलन: यह मसालेदार या वसायुक्त भोजन खाने, शराब पीने या धूम्रपान करने की वजह से हो सकता है।

- इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (IBS): यह एक गंभीर स्थिति है जो पेट में दर्द, सूजन और कब्ज या दस्त का कारण बन सकती है।

-गैस्ट्रोएंटेराइटिस: यह पेट और आंतों की सूजन है, जो वायरस, बैक्टीरिया या फूड पॉइजनिंग के कारण हो सकती है।

-अल्सर: अल्सर नामक खुले घाव छोटी आंत या पेट की दीवारों पर बन सकते हैं। वे स्ट्रेस, कुछ दवाओं या हेलिकोबैक्टर पाइलोरी बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण हो सकते हैं।

-पैंक्रियाटाइटिस: यह पैंक्रियास की सूजन है, जो गंभीर पेट दर्द का कारण बन सकता है। यह अक्सर ज्यादा मात्रा में अल्कोहल/शराब के सेवन से होती है।

- फूड एलर्जी: कुछ खाद्य पदार्थ हर किसी को सूट नहीं करते, जिससे फूड एलर्जी हो सकती है, जो पेट दर्द, घबराहट, उल्टी और दस्त का कारण बन सकते हैं।

पेट दर्द के घरेलू उपाय

ऐसे कई घरेलू उपचार हैं जो पेट दर्द के इलाज में कारगर हो सकते हैं। इनमें से कुछ में शामिल हैं:-

-अदरक: अदरक की जड़ घबराहट और पेट दर्द के लिए एक प्रसिद्ध उपाय है। इसका सेवन कई तरह से किया जा सकता है, जिसमें ताजा, पाउडर या अर्क के रूप में शामिल है।

कैमोमाइल टी: कैमोमाइल में ठंडा करने वाले गुण होते हैं जो पेट की गर्मी को शांत करने में मदद कर सकते हैं। पिसी हुई कैमोमाइल टी अपच और गैस से राहत दिलाने में काफी कारगर सिद्ध हुई है।

-पेपरमिंट: पेपरमिंट शीतल प्रभाव वाली एक अन्य जड़ी-बूटी है जो पेट दर्द के इलाज में मददगार हो सकती है। इसका सेवन ताजा, सुखाकर या एक आवश्यक तेल के रूप में किया जा सकता है।

-सेब का सिरका: माना जाता है कि सेब के सिरके में एंटीबाइटिक गुण होते हैं और यह डाइजेस्टिव सिस्टम (पाचन तंत्र) में भोजन को अधिक प्रभावी ढंग से पाचन में भी मदद कर सकता है। इसका सेवन पानी में पतला करके या अन्य खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों में मिलाकर किया जा सकता है।

-सौंफ के बीज: सौंफ के बीज लंबे समय से अपच, सूजन और गैस जैसे पाचन संबंधी मुद्दों के लिए एक प्राकृतिक उपचार के रूप में उपयोग किए जाते रहे हैं। उन्हें पूरा खाया जा सकता है या पीसकर भोजन या पेय के साथ लिया जा सकता है।

पेट दर्द को ट्रिगर करने वाले भोजन से परहेज करना

पेट दर्द के लिए कई संभावित ट्रिगर हैं और जो एक व्यक्ति के लिए काम करता है वह दूसरे के लिए काम नहीं कर सकता है। हालांकि, कुछ सामान्य दिशा-निर्देश हैं जो लोगों को उनके पेट दर्द को ट्रिगर करने से बचने में मदद कर सकते हैं।

पहला, धीरे-धीरे खाना और भोजन को अच्छी तरह चबाना महत्वपूर्ण है। यह पाचन प्रक्रिया में मदद करता है और अपच के कारण होने वाले पेट दर्द को रोक सकता है।

दूसरा, एक साथ काफी सारा भोजन खाने से बचने की कोशिश करें। दिन में कई बार थोड़ा थोड़ा भोजन खाने से पेट में एसिड की मात्रा कम करने और पेट दर्द को रोकने में मदद मिल सकती है।

तीसरा, कुछ खाद्य पदार्थ कुछ लोगों के पेट में दर्द पैदा करने के लिए जाने जाते हैं। इनमें मसालेदार भोजन, वसायुक्त भोजन, खट्टे फल, कैफीन, चॉकलेट और शराब शामिल हैं। यदि आप जानते हैं कि कुछ खाद्य पदार्थ आपके पेट दर्द को ट्रिगर करते हैं, तो उनसे बचना सबसे अच्छा है।

चौथा, स्ट्रेस लेना या तनाव भी पेट दर्द का एक कारण हो सकता है। आराम करने और तनाव के स्तर को रोकने के  तरीके खोजने की कोशिश करें। इसमें व्यायाम, योग या गहरी सांस लेने जैसे कुछ शारीरिक व्यायाम शामिल हो सकते हैं।

गैस और ब्लोटिंग में मदद करने के टिप्स

यदि आप पेट दर्द और गैस का अनुभव कर रहे हैं, तो तकलीफ को कम करने के लिए आप घर पर कुछ चीजें कर सकते हैं। यहां आपके लिए कुछ सलाह दी जा रही हैं:-

- खूब सारे तरल पदार्थ, खासकर पानी खूब पिएं। यह आपके डाइजेशन सिस्टम को चिकनाई देने और ठीक से काम करने में मदद करेगा।

- भारी भोजन के बदले दिन भर नियमित रूप से हलका भोजन करें। इससे आपके पेट में खाना पचने में आसानी होगी।

- उन खाद्य पदार्थों से बचें जो गैस और सूजन पैदा करने के लिए जाने जाते हैं, जैसे बीन्स, ब्रोकली, गोभी और डेयरी उत्पाद।

- नियमित रूप से व्यायाम करें। यह डाइजेशन यानी पाचन को सुधारने और तनाव को भी दूर करने में मदद कर सकता है, जो पेट दर्द को कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं।

- अगर आपको अभी भी असुविधा हो रही है तो एंटासिड या सिमेथिकोन जैसी काउंटर पर मिलने वाली दवाओं को आजमाएं।

निष्कर्ष          

पेट दर्द हमेशा परेशानी भरा रहता है, लेकिन वास्तव में कुछ चीजें हैं जो आप घर पर कर सकते हैं जिससे तकलीफ कम हो सकती है। अगली बार जब आपको पेट दर्द महसूस हो, तो इनमें से किसी एक सरल घरेलू उपचार को अपनाएं और देखें कि ये सभी उपाय आपको कम समय में बेहतर महसूस करने में मदद कर सकते हैं या फिर नहीं।

Want to book a Blood Test?

Comments


Leave a Comment

new health articles

What is Pilonidal Sinus: Causes, Symptoms, Stages and Treatment

What is Pilonidal Sinus: Causes, Symptoms, Stages and Treatment

What is World Health Day & Its Importance

What is World Health Day & Its Importance

Transient Ischemic Attacks (TIAs): What Are the Symptoms of Mini-Stroke?

Transient Ischemic Attacks (TIAs): What Are the Symptoms of Mini-Stroke?

Early Signs and Symptoms of Skin Cancer

Early Signs and Symptoms of Skin Cancer

What Is The Stress Test? What To Expect And Why It Matters

What Is The Stress Test? What To Expect And Why It Matters

Everything You Need to Know About Blood Pressure Readings

Everything You Need to Know About Blood Pressure Readings

Get a Call Back from our Health Advisor

LOGIN

Get access to your orders, lab tests

OTP will be sent to this number by SMS

Not Registered Yet? Signup now.

ENTER OTP

OTP sent successfully to your mobile number

Didn't receive OTP? Resend Now

Welcome to Max Lab

Enter your details to proceed

MALE
FEMALE
OTHER